जातथी कायम अमे खसतां रह्या  Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

जातथी कायम अमे खसतां रह्या Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

जातथी कायम अमे खसतां रह्या  Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia जातथी कायम अमे खसतां रह्या  एटले तो अन्यमां भळता रह्यां  लागणीनो ज्...
Read More
मैं बोज से ईस लिए हलका कभी हो ना शका  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

मैं बोज से ईस लिए हलका कभी हो ना शका Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

मैं बोज से ईस लिए हलका कभी हो ना शका  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia मैं बोज से ईस लिए हलका कभी हो ना शका  इश्क़ तेरा भारी था अपना ...
Read More
रुह से अब जिस्म मेरा पूछता हैं  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

रुह से अब जिस्म मेरा पूछता हैं Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

रुह से अब जिस्म मेरा पूछता हैं  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia रुह से अब जिस्म मेरा पूछता हैं  कौन है जो तेरी अंदर तूटता हैं  एक ...
Read More
फरीथी प्रेममा तारा ज पडवानुं मने मन थाय छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

फरीथी प्रेममा तारा ज पडवानुं मने मन थाय छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

फरीथी प्रेममा तारा ज पडवानुं मने मन थाय छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia फरीथी प्रेममा तारा ज पडवानुं मने मन थाय छे फरीथी काव्य ...
Read More
साथ एवो आपजे के हुं छूटी ना शकुं Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

साथ एवो आपजे के हुं छूटी ना शकुं Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

साथ एवो आपजे के हुं छूटी ना शकुं Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia साथ एवो आपजे के हुं छूटी ना शकुं भार एवो आपजे के हुं झूकी ना शकुं...
Read More
जूनी डायरीओनां पाना खोल्या हतां Gujarati Kavita By Naresh K. Dodia

जूनी डायरीओनां पाना खोल्या हतां Gujarati Kavita By Naresh K. Dodia

जूनी डायरीओनां पाना खोल्या हतां Gujarati Kavita By Naresh K. Dodia जूनी डायरीओनां पाना खोल्या हतां मोबाइल युग पहेलानां मरोडदार अक्...
Read More
इतनी बहस उस से जुबानी हो गई  Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

इतनी बहस उस से जुबानी हो गई Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

इतनी बहस उस से जुबानी हो गई  Hindi Gazal By Naresh K. Dodia इतनी बहस उस से जुबानी हो गई जो बात करनी थी छूपानी हो गई बस मुंहदिखाई...
Read More
दूरतामां साव पासे संभळातो साद छे. Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

दूरतामां साव पासे संभळातो साद छे. Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

दूरतामां साव पासे संभळातो साद छे. Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia दूरतामां साव पासे संभळातो साद छे. तुं नथी पासे छतां तुं होय एवो ...
Read More