तारी साथे एवी मजानी क्षण मळे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

तारी साथे एवी मजानी क्षण मळे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

तारी साथे एवी मजानी क्षण मळे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia तारी साथे एवी मजानी क्षण मळे ए ज क्षणनुं जिंदगीभर वळगण मळे वृक्ष ज...
Read More
बधी यादोनु मारी आंखमां सरनामुं छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

बधी यादोनु मारी आंखमां सरनामुं छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

बधी यादोनु मारी आंखमां सरनामुं छे Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia बधी यादोनु मारी आंखमां सरनामुं छे जो,आंखोनी तवारीखोमा तारुं पानु...
Read More
शाम होते ही में तेरी याद में शामिल होता हूँ  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

शाम होते ही में तेरी याद में शामिल होता हूँ Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

शाम होते ही में तेरी याद में शामिल होता हूँ  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia शाम होते ही में तेरी याद में शामिल होता हूँ  फिर सुबह ह...
Read More
दिल तो अमारुं जामनगरी बांधणीनी जात छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

दिल तो अमारुं जामनगरी बांधणीनी जात छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

दिल तो अमारुं जामनगरी बांधणीनी जात छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia पडतर रहे छे तोय आ लागणीनी जात छे अडको तो फूंफाडा देती ए साप...
Read More
इक बार उस को मैं मिला तो उस की आदत हो गइ हैं  Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

इक बार उस को मैं मिला तो उस की आदत हो गइ हैं Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

इक बार उस को मैं मिला तो उस की आदत हो गइ हैं  Hindi Gazal By Naresh K. Dodia इक बार उस को मैं मिला तो उस की आदत हो गइ हैं ये जिंदगी ...
Read More
 तरजुमो आ आंसुनो शब्दो करी शकता नथी Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

तरजुमो आ आंसुनो शब्दो करी शकता नथी Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia

  तरजुमो आ आंसुनो शब्दो करी शकता नथी Gujarati Gazal By Naresh K. Dodia तरजुमो आ आंसुनो शब्दो करी शकता नथी ए ज कारणथी बधां शायर बनी श...
Read More
जी बहलता भी नही हैं ना शुकुन मिलतां है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

जी बहलता भी नही हैं ना शुकुन मिलतां है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

जी बहलता भी नही हैं ना शुकुन मिलतां है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia जी बहलता भी नही हैं ना शुकुन मिलतां है फोन से मेसेज से, दिल अब...
Read More
मेरी परेसानी का सबब तुम को अभी मालुम नही  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

मेरी परेसानी का सबब तुम को अभी मालुम नही Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

मेरी परेसानी का सबब तुम को अभी मालुम नही  Hindi Muktak By Naresh K. Dodia मेरी परेसानी का सबब तुम को अभी मालुम नही    मे चाहतां हुं ...
Read More