मे खुद को तन्हा छोड भी शकता नही Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

मे खुद को तन्हा छोड भी शकता नही Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मे खुद को तन्हा छोड भी शकता नही Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मे खुद को तन्हा छोड भी शकता नही

ये ख्याल तेरा दिल से क्युं हटतां नही 

ए हम-सफर कुछ ख्याल मेरा भी करो
ये फासलो से दम कभी घुटता नही?

तु जागती है रात भर क्यो ये बतां?
मेरी तरह दिल ख्वाब से भरता नही

मुझ को भी गम है चाहतो की राह में
रास्ते मे कोइ तुज सा भी मिलता नही

मेरी लकीरो से तेरी बनती नही
मे नाम तेरा इस लिए लिखता नही

ये शर्द मौसम का समा खामोश है
क्यों इश्क मे दिल भी तेरा जलता नही

मेरे वतन की बात कुछ तो और है
सूरज यहा का बर्फ से डरता नही
-नरेश के.डॉडीया
Advertisement