रफतार मेरी जिंदगी की तब रूक जाती है Sher By Naresh K. Dodia


जब सामने आकर नजर तेरी जुक जाती है
-नरेश के.डॉडी

रफतार मेरी जिंदगी की तब रूक जाती है Sher By Naresh K. Dodia
रफतार मेरी जिंदगी की तब रूक जाती है Sher By Naresh K. Dodia

रफतार मेरी जिंदगी की तब रूक जाती है
जब सामने आकर नजर तेरी जुक जाती है
-नरेश के.डॉडीया
Advertisement