रसीला होठ पर एनां गुलाबी ताजगी छलके छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia

रसीला होठ पर एनां गुलाबी ताजगी छलके छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia
रसीला होठ पर एनां गुलाबी ताजगी छलके छे Gujarati Muktak By Naresh K. Dodia
रसीला होठ पर एनां गुलाबी ताजगी छलके छे
ने कजरारा नयनमा एकधारी वीजळी चमके छे
हरखनां कोइ तेडा होय नां ज्यां चाहनांनुं छे राज
ए टेलीफोनमां बोले ने दिलमा घंटडी रणके छे
-नरेश के.डॉडीया
Advertisement