जिंदगी का लुत्फ क्यां है? Hindi Kavita By Naresh K. Dodia

जिंदगी का लुत्फ क्यां है? Hindi Kavita By Naresh K. Dodia
जिंदगी का लुत्फ क्यां है? Hindi Kavita By Naresh K. Dodia

जिंदगी का लुत्फ क्यां है?
वोह तुम्हे सिर्फ दो लाइन मे कहनां चाहतां हुं 
जब तुंम मेरी जिंदगी मे आइ थी
जब तुंम मेरी जिंदसी से चली गइ
ये दो लाइन के बिच के जो कुछ
हमारे दरमियां हुवा
उस को शायद
"जिंदगी कां लुत्फ"
कहेते है 
बस बाकी तो वोही जिंदगी है
जो आम लोग बिताते है
-नरेश के.डॉडीया
Advertisement