मे उन को छोडकर भी गुमसुदा हो ना शका Hindi Gazal By Naresh K. Dodia


मे उन को छोडकर भी गुमसुदा हो ना शका Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मे उन को छोडकर भी गुमसुदा हो ना शका Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मे उन को छोडकर भी गुमसुदा हो ना शका
खुदा हो कर भी वो मेरा खुदा हो ना शका

तरीक़े इश्क के शायद उसे मालुम नही            
जुदा होकर भी वो मुझ से जुदा हो ना शका

मे मिन्न्ते उस को बारी बारी करतां रहतां था   
मगर वो मेरे दिल से कयुं सदा हो नां शकां        

कभी अहसान कीसी का ले इतना याद रख      
बहुत से वाक्ये है मर के अदा हो नां शकां         

नही उस का पता मालुम नही उस की खबर 
मिलाया दिल मगर दिल कां मुदा हो ना शका      

सभी कहते है उस की आंख मे पयमांने है       
मगर मेरां कभी बो मयकदा हो ना शकां               

"महोतरमां" गहरी झिल सी है फितरत आप की              
मे तुझ मे डूब कर भी बुदबुदा हो ना शकां     
-नरेश के.डॉडीया
Advertisement