तेरी तस्वीर की खूबसूरती लोगो के लिये तो दिखाइ है Hindi Kavita By Naresh K. Dodia

तेरी तस्वीर की खूबसूरती लोगो के लिये तो दिखाइ है Hindi Kavita By Naresh K. Dodia
तेरी तस्वीर की खूबसूरती लोगो के लिये तो दिखाइ है
दिल में तुं देख,वहा तेरी तस्वीर खुद खुदा ने बनाइ है
जब से तुं से मिली है लगतां हैं दुआए मेरे साथ है
लगतां हैं जैसे तुं ही मेरी जन्मो के दुख की रिहाइ है

कौन होता है जो दुनिया में जो गैरो को अपना बनाये
लगता है मुझ से अपनो से ज्यादा चाहत तुने जताइ है
कोन कहेता है किस्मत के घागे खुदा बुनता रहेता है?
सलिके से तुने दो दिलो की एक जान मे की बुनाइ है

भूल गयां हुं परिंदो की दिल को छु लेने वाली आवाज
जब से तुने अपने दिल की बात मेरे कानो में सुनाइ है
कभी कभी तेरी कमी बहुत सी महेसुस करता हुं तब  
तेरी तस्वीर से मेरे लिए कोइ गेबी सी सदा आइ है

कयुं काइनात मे एक ही इन्सान खुदा सा प्यारा लगे?
सारी खुदाइ हैरत मे है,तुं है की खुदा की परछाइ है?
नाज,नखरे,खूबसूरती किस्से मुझे फिक्के से लगते है
उन की वजह,मेरी आंखो के सामने तुने ली अंगडाइ है

कितना लिखता है नरेन,सिर्फ महोतरमा तेरे नाम से
फरिस्ते को लगता है के मेरी गजले किताब खुदाइ है
- नरेश के.डॉडीया

Advertisement

No comments:

Post a Comment