शुकुन मिलता नही है और कैसे इश्क़ करते जा रहे हो तुम Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

शुकुन मिलता नही है और कैसे इश्क़ करते जा रहे हो तुम Hindi Muktak By Naresh K. Dodia
शुकुन मिलता नही है और कैसे इश्क़ करते जा रहे हो तुम Hindi Muktak By Naresh K. Dodia 
शुकुन मिलता नही है और कैसे इश्क़ करते जा रहे हो तुम  
तुम्हारा चैन छीना जिसने उसके नाम लिखते जा रहे हो तुम 
सलिके से भूला देंगे तुम्हें ये याद रखना बात मेरी तुम 
हजारो चाहने वाले रो रहे है और हसते जा रहे हो तुम 
- नरेश के.डोडीया
Advertisement