हमारी जिंदगी अब खास बन गइ है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

हमारी जिंदगी अब खास बन गइ है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
हमारी जिंदगी अब खास बन गइ है Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
हमारी जिंदगी अब खास बन गइ है
जो तेरे इश्क की प्हेचान बन गइ है

कभी तुं धर नही जाती तो में कहतां
ये ढलती शाम अब तो रात बन गइ है

सुहानी चांदनी रातो मे कहतां थां
जमीं पे रहतां मेरा चांद बन गइ हैं

हमारा कोइ मकसद ना था चाहत कां
तुम्हे देखा तो दिल की आश बन गइ हैं

मुझे उम्मीद से ज्यादा दियां तुमने
तुं अब राहत की लंबी सांस बन गइ हैं

छुं कर तुंझ को मुझे संदल की खुश्बू आइ
ये दोलत आज मेरे नाम बन गइ है

तुझे पाकर मे इतनां खुश था क्यां कहुं में
नियत मेरी भी कितनी पाक बन गइ हैं

गजल में बंदगी तेरी ही करतां हुं
महोतरमां इबादतगाह बन गइ है
– नरेश के.डॉडीया
Advertisement