हमारे हाल पे हस लो तुम्हे जितनां भी हसना है Hindi Muktak By Naresh K. Dodia

हमारे हाल पे हस लो तुम्हे जितनां भी हसना है Hindi Muktak By Naresh K. Dodia
हमारे हाल पे हस लो तुम्हे जितनां भी हसना है Hindi Muktak By Naresh K. Dodia
हमारे हाल पे हस लो तुम्हे जितनां भी हसना है
मगर ये याद रखनां सब को मेरे पीछे चलनां है
हमारा नाम पढ के लोग जो पन्ने पलटते है      
उन्हे मालुम नही कलमां की माफिक मुझको पढनां है                         
- नरेश के. डॉडीया
Advertisement