उस पार कर दो या मुझे इस पार कर दी जिए Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

उस पार कर दो या मुझे इस पार कर दी जिए Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
उस पार कर दो या मुझे इस पार कर दी जिए Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
उस पार कर दो या मुझे इस पार कर दी जिए
वो मुझ को ही देखे उसे ऐसी नजर दी जिए

उस शख़्स से बिछडे जमाना हो गयां हैं मगर
अब उस को मुझ तक प्होचने की नइ डगर दी जिए

मैं कितना कडवां हुं इक वोही जानती हैं यहां
होठो से मीठी बात हो ऐसी सुगर दी जिए

वो दरख़्त को काटे चला जा रहां उसे कयां कहुं
इक पंछीने क्हां अब नयां सा घर दी जिए

किस्से हमारे कितने भी बदनाम हो डर नहीं
फिर दोहराए एसी यारो को खबर दी जिए

मुझ को तुम्हारी बात पे वैसे यकीं था मगर
सच मानलुं तेरी जुबां पे वो असर दी जिए

वो ख्वाब थां तो ख्वाब बन के रह गयां आंख में
जो जिंदगीभर साथे दे वो हमसफर दी जिए

बोलो महोतरमां मुझे मिलने की उम्मीद है?
मुझको नही मिलनां है ब्हाने से मुकर दी जिए
– नरेश के. डोडीया

Advertisement