मंजिल हमारी आप हो तो बस मुझे चलना हैं Hindi Gazal By Naresh K. Dodia

मंजिल हमारी आप हो तो बस मुझे चलना हैं Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मंजिल हमारी आप हो तो बस मुझे चलना हैं Hindi Gazal By Naresh K. Dodia
मंजिल हमारी आप हो तो बस मुझे चलना हैं 
मुश्किल भले ये राह हो तो बस मुझे चलना हैं 

तु हमसफ़र मेरा बने तो बात दिल की कहे 
हाथो में तेरा हाथ हो तो बस मुझे चलना हैं 

लाखो दिवाने आप के होंगे पता हैं मुझे 
मेरे लिए गर खास हो तो बस मुझे चलना हैं 

कितनी किसम के जाम पीए हैं मगर प्यासा हुं
तेरी नजर का जाम हो तो बस मुझे चलना हैं 

शोला मिजाजी के लिए मशहूर हैं  तो सुनो 
कितनी भी तु बदनाम हो तो बस मुझे चलना हैं 

ये ज़िन्दगी के माइने कैसे बदलने हैं कहो 
टुकडो में बट गई जात हो तो बस मुझे चलना हैं 

कितनी ख़फा हो तुम मुझे परवाह हैं  मेरी जान 
दिल में तुम्हारे आग हो तो बस मुझे चलना हैं 

मेरी महोतरमा,तुम्हारी कल से मतलब नहीं 
हिस्से में मेरे आज हो तो बस मुझे चलना हैं 
- नरेश के. डोडीया
Advertisement

No comments:

Post a comment